Television पर निबंध छात्रों के लिए हिंदी में | Essay on Television for Students in Hindi

Television के बारे में निबंध छात्रों के लिए | स्कूली छात्रों के लिए Television के बारे में निबंध 500,300 or 200 सब्द में । [Essay on television for students in Hindi]

छात्र जो स्कूल में पढ़ते हैं उनको अक्सर अपने परीक्षा में निबंध लिखने को कहा जाता हे, और निबंध में से सोबेसे को common topic रहता हे टेलीविज़न (TV). इस पोस्ट में मैंने television के बारेमे निबंध लिखनेकी कुछ आइडियाज शेयर कोर रहा हु जो आपको अपने हिसाबसे television के बारेमे निबंध लिखने में मदद करेंगे। इस पोस्ट में मैंने 500, 300 और 200 सब्दो में television के ऊपर निबंध लिखनेकी कुछ उदहारण दिए जा रहे हे।

Television के बारे मे निबंध 500 शब्द के अंदर [ Essay on television for student in Hindi within 500 word]

Television अब हमारे जीवन का अहम हिस्सा बन गया है। यह न केवल हमारे सामाजिक जीवन बल्कि हमारे शैक्षिक जीवन को भी प्रभावित करता है। जिस तरह समाचार पत्र और कंप्यूटर संचार के महत्वपूर्ण साधन हैं, उसी तरह TV भी एक के रूप में गिना जाता है। television से आप बाहर की दुनिया से जुड़ सकते हैं। इसके अलावा, यह हमारे व्यक्तिगत और सार्वजनिक जीवन को प्रभावित करने में भी महत्वपूर्ण है। हालांकि, फायदे के साथ कुछ नुकसान भी हैं। इसलिए इसका सेवन एक लिमिट में ही करना चाहिए। यह टेलीविजन निबंध उन्हीं बिंदुओं पर विस्तार से बताएगा।

Television पर निबंध छात्रों के लिए हिंदी में | Essay on Television for Students in Hindi

टेलीविजन का महत्व

Television निश्चित रूप से स्क्रीन के साथ सबसे महत्वपूर्ण इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में से एक है। यह हमें जानकारी प्राप्त करने में मदद करता है। साथ ही इससे हमारा मनोरंजन भी होता है और बोरियत से भी छुटकारा मिलता है।

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि यह समाचार और सूचना के वितरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। समाचार चैनल दुनिया में वर्तमान घटनाओं के बारे में जानकारी का एक बड़ा स्रोत हैं। इसी तरह टेलीविजन के कार्यक्रम भी हमें बहुत कुछ सिखाते हैं।

उदाहरण के लिए, हम ऐतिहासिक चैनलों के माध्यम से समृद्ध सभ्यताओं और ऐतिहासिक रेखाचित्रों के बारे में सीखते हैं। इसी तरह, जब हम अकेले होते हैं, तो यह मनोरंजन के एक बड़े स्रोत के रूप में कार्य करता है। इसके अलावा, हमें खाना पकाने के कई व्यंजनों के बारे में भी जानने को मिलता है।

Television हमारे दिमाग की क्षमता को बढ़ाने में हमारी मदद करता है। आप अपनी दैनिक समस्याओं को हल करने के लिए इससे एक या दो तरकीबें सीख सकते हैं। यह लोगों में रचनात्मकता भी पैदा करता है। इसके अलावा, सूचना चैनल देखना हमें तथ्यों और अवधारणाओं से लैस करता है।

Television पर प्रेरणा कार्यक्रम भी होते हैं। वे कई क्षेत्रों में सफलता हासिल करने के लिए कई लोगों के लिए प्रेरणा का काम करते हैं। इसके अलावा हमें Television से लाफ्टर थैरेपी भी मिलती है।

कॉमेडी शो और फिल्में देखना हमें खुलकर हंसने का मौका देता है। वहीं धार्मिक और आध्यात्मिक लोगों को भी इसका लाभ मिलता है। वे अपनी आत्मा को पोषण देने के लिए आध्यात्मिक और धार्मिक संदेशों तक पहुँच प्राप्त करते हैं।

टेलीविजन के कुछ नुकसान [ Some disadvantages of television]

जैसे-जैसे युवा पीढ़ी इलेक्ट्रॉनिक्स के साथ बड़ी हो रही है, इन गैजेट्स के साथ अपना समय सीमित करना महत्वपूर्ण हो गया है। आप हर समय देखते हैं कि वे फोन स्क्रीन या टेलीविजन से चिपके रहते हैं।

माता-पिता के लिए यह किसी बुरे सपने से कम नहीं है क्योंकि यह उनके दिमाग को नुकसान पहुंचाता है। जब आप लगातार चमकती स्क्रीन देखने के अभ्यस्त हो जाते हैं, तो कुछ भी आपको रुचिकर नहीं लगेगा। इसके अलावा, माता-पिता भी मनोरंजन प्राप्त करने के लिए अपने बच्चों को स्क्रीन पर खाली देखने की अनुमति देते हैं।

इससे उनका बाहर खेलने या अपने प्रियजनों के साथ समय बिताने का समय निकल जाता है। जब बच्चे बाहर खेलेंगे या दूसरों के साथ घुलमिलेंगे, तो वे अपने सामाजिक कौशल, सकल मोटर कौशल और भाषा को विकसित करने में सक्षम होंगे।

केवल television देखने से उन्हें ऐसा करने में मदद नहीं मिलेगी। इसलिए, विशेष रूप से बच्चों के लिए टेलीविजन देखने के समय को सीमित करना महत्वपूर्ण है। यह उन्हें लंबे समय में बहुत मदद कर सकता है और उन्हें बेहतर जीवन दे सकता है।

निष्कर्ष

टेलीविज़न निबंध को समाप्त करने के लिए, जहाँ टेलीविज़न के कई लाभ हैं, वहीं इसके नुकसान के उचित हिस्से के साथ भी आता है। इस प्रकार, हमें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि हमारे बच्चे टीवी देखने और अन्य काम करने के बीच सही संतुलन बनाएं। इस तरह, वे दोनों दुनिया के सर्वश्रेष्ठ प्राप्त कर सकते हैं।

 

टेलीविजन पर Paragraph हिंदी में – 300 शब्द मे

घरों में टीवी की शुरुआत के 100 वर्षों के भीतर, यह किसी भी अन्य उपकरण की तुलना में अधिक लोकप्रिय हो गया। आधुनिक समय के टीवी पहले इस्तेमाल किए जाने वाले टीवी से बहुत अलग हैं। पहले के संस्करण यांत्रिक टेलीविजन के रूप में जाने जाते थे और भारी और भारी थे। जब आज हमारे पास स्लिम, एलसीडी और एलईडी डिस्प्ले टीवी की तुलना में, वे एक दूर युग के उपकरण की तरह लगते हैं।

टीवी का मुख्य उद्देश्य दुनिया को करीब लाना था। जबकि यह काफी हद तक संभव हुआ। हालाँकि, यह सामाजिक बंधनों के अलगाव के लिए भी जिम्मेदार रहा है। लोग सामाजिक दायित्वों में शामिल होने के बजाय घर पर रहना पसंद करते हैं।

20वीं सदी के मध्य में, टीवी इतना लोकप्रिय हो गया कि लगभग सभी इसके आदी हो गए। इसने कंपनियों की उत्पादकता और उनकी वृद्धि को प्रभावित किया। टीवी पर खेलों के प्रसारण के साथ, लोगों को अपने कामों को छोड़ने का एक और कारण मिल गया। नए टीवी में रिमोट कंट्रोल होते हैं जो उपयोगकर्ता को अपने सोफे के आराम से उन तक पहुंचने की अनुमति देते हैं।

दूसरी ओर, पुराने संस्करणों को सीट से उठकर और टीवी के पास जाकर बटन दबाने के लिए नियंत्रित करना पड़ता था। वह बहुत समय लेने वाला और असुविधाजनक था। विभिन्न प्रकार के टीवी हैं, जैसे लिक्विड क्रिस्टल डिस्प्ले टीवी और नवीनतम एलईडी टीवी। एलईडी टीवी को उनके स्पष्ट और एचडी डिस्प्ले के कारण एलसीडी वाले को पसंद किया जाता है। यह याद रखना महत्वपूर्ण है कि टीवी कितने भी सुविधाजनक क्यों न हों, उन्हें बाहरी काम से नहीं बदला जा सकता है। हमें स्वस्थ जीवन जीने के लिए टीवी समय और बाहरी जीवन शैली के बीच सही संतुलन बनाना होगा।

टीवी से निकलने वाले उत्सर्जन का हमारे स्वास्थ्य पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है। इसके अलावा, टीवी स्क्रीन के लंबे समय तक संपर्क हमारे रेटिना को नुकसान पहुंचा सकता है। यह हमारी देखने की क्षमता को खराब कर सकता है। हमारी आंखों को नुकसान होने से बचाने के लिए टीवी से सही दूरी बनाए रखना या ब्लू-लाइट प्रोटेक्शन फिल्म का इस्तेमाल करना बहुत जरूरी है।

 

Television के बारे में 10 लाइन  [10 Lines on television in Hindi]

  • Television हमारे जीवन के सबसे महत्वपूर्ण आविष्कारों में से एक है।
  • टेलीविजन का आविष्कार “जॉन लोगी बेयर्ड” ने किया था।
  • आजकल टेलीविजन हमारे जीवन का अहम हिस्सा बन गया है।
  • हम Television के माध्यम से दुनिया की खबरें देख और सुन सकते हैं।
  • टेलीविजन  (TV) पर हम शिक्षा, मनोरंजन, कृषि, उत्पाद आदि से संबंधित कार्यक्रम देखते हैं।
  • टेलीविजन बच्चों के मनोरंजन का अच्छा माध्यम है।
  • टेलीविजन का इस्तेमाल बच्चों को स्कूल में पढ़ाने के लिए भी किया जाता है
  • शुरुआती दिनों में टेलीविजन का विकास उतना अच्छा नहीं था जिसके कारण इसमें चित्र और आवाज साफ नहीं थी।
  • लेकिन आज हमारे बीच स्मार्ट टेलीविजन उपलब्ध है, जिसमें न केवल साफ तस्वीरें, बल्कि आप इंटरनेट एप्लिकेशन के YouTube भी देख सकते हैं।
  • प्रारंभिक टेलीविजन रंग प्रसारित नहीं कर सकते थे; इसलिए सभी चित्र ग्रे रंग में थे।
  • रंगीन टेलीविजन प्रणाली 1960-1980 के बीच विकसित की गई थी।
    केबल टेलीविजन की शुरुआत 1992 में हुई थी।
  • एक पूर्ण-इलेक्ट्रॉनिक टेलीविजन प्रणाली स्थापित करने वाले पहले व्यक्ति फिलो फार्नवर्थ थे।

 

[FaQ on television] टेलीविजन पर निबंध के अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

Television का आविष्कार किसने किया?

Television का आविष्कार साल 1925 में John Logie Baird द्वारा लंदन में किया था।

Television भारत में कब चालू हुआ था?

साल 1959 के 15 सितंबर भारत में पहली बार Television चालू हुआ था।

टेलीविजन क्यों महत्वपूर्ण है?

टेलीविजन मनोरंजन का एक बड़ा स्रोत है। इसके अलावा, यह हमें दुनिया के बारे में बहुमूल्य जानकारी भी प्रदान करता है। यह हमें बाहरी दुनिया के संपर्क में रहने में भी मदद करता है।

हमें टेलीविजन के समय को सीमित क्यों करना चाहिए?

ऐसा करना आवश्यक है, खासकर बच्चों के लिए ताकि वे अपने सामाजिक कौशल और सकल मोटर कौशल को बेहतर ढंग से विकसित कर सकें। ज्यादा टीवी देखने से उनकी आंखों की रोशनी भी जा सकती है। इसलिए इसका सेवन एक लिमिट में ही करना चाहिए।

Read more:

खेल के महत्व पर निबंध छात्रों के लिए हिंदी में 

Leave a Comment

बिना इंटरनेट के कैसे Use करे Gmail | How to Use Gmail Without Internet आपके Aadhar से कितने SIM चल रहे हे कैसे पता करे? बारिश में बाइक या स्कूटी कैसे चलाएं | how to ride two wheeler in rain best photo editing app | बेस्ट फोटो एडिटिंग ऐप PAN कार्ड से आधार लिंक कैसे करे | How to Link Aadhar with PAN